unnamed file

15 Top Tongue Twisters in Hindi | 15 टॉप हिंदी टंग ट्विस्टर

हम ने १5 टॉप  टंग ट्विस्टर को सूचीबद्ध किया है, जो आप अपने बच्चो को आसानी से सीखा सकते है । इसके कई फायेदे है।

टंग ट्विस्टर्स क्या है ?

अगर आप टंग ट्विस्टर बोलने मे असमर्थ है , तो घबराइये मत आप अकेले नहीं है। ये मात्रभाषा में होने के बावजूद भी कई लोग बोलने मे असमर्थता मेहसूस करते है।

टंग ट्विस्टर्स शब्दों (वर्णो और स्वरों) का समूह होता है जिनकी बार बार आवृति या बार बार दोराहे जाते है। जिसके कारण उनका उच्चारण तेजी से करने पर असजगता मेहसूस होती है।

टंग ट्विस्टर्स के फायदे ?

  1. टंग ट्विस्टर्स के लगातार प्रयोग में लाने से शब्दों के उच्चारण मे शुद्धता आती है|
  2. टंग ट्विस्टर्स के प्रयोग से हमे यह स्पष्ट मिलती है की कौन- कौन से शब्दों और स्वरों का उच्चारण स्पष्ट रूप से नहीं करपा रहे है।
  3. यह एक अच्छा स्पष्ट उच्चारण व्यायाम (articulation exercise) है|
  4. कलाकार भी मंच पर परफॉर्म करने से पहले इसका अभ्यास करते है , जिससे मंच पर उनको उच्चारण करते वक़्त स्पष्ट रहे।

15 टॉप हिंदी टंग ट्विस्टर

1.) कच्चा पापड़, पक्का पापड़ |
कच्चा पापड़, पक्का पापड़ |

2.) फालसे का फासला |
फालसे का फासला

3.) ऊंट ऊंचा, ऊंट की पीठ ऊंची. ऊंची पूंछ ऊंट की |
ऊंट ऊंचा, ऊंट की पीठ ऊंची. ऊंची पूंछ ऊंट की |

4.) पके पेड़ पर पका पपीता पका पेड़ या पका पपीता |

पके पेड़ पर पका पपीता पका पेड़ या पका पपीता |

5.) चंदा चमके चम चम, चीखे चौकन्ना चोर, चिति चाटे चीनी, चकोरी चीनी खोर |

चंदा चमके चम चम, चीखे चौकन्ना चोर, चिति चाटे चीनी, चकोरी चीनी खोर

6.) पीतल के पतीले में पपीता पीला पीला |

पीतल के पतीले में पपीता पीला पीला |

7.) दुबे दुबई में डूब गया |

दुबे दुबई में डूब गया |

8.) जो हंसेगा वो फंसेगा, जो फंसेगा वो हंसेगा |

जो हंसेगा वो फंसेगा, जो फंसेगा वो हंसेगा |

9.) नदी किनारे किराने की दुकान |

नदी किनारे किराने की दुकान | 

10.) चार नयी नवेली दुल्हन, दुल्हन नयी नवेली चार !

चार नयी नवेली दुल्हन दुल्हन नयी नवेली चार !

11.) काला कबूतर, सफेद तरबूज, काला तरबूज, सफेद कबूतर |

काला कबूतर, सफेद तरबूज, काला तरबूज, सफेद कबूतर |

12.) नंदु के नाना ने नंदु की नानी को नंद नगर मे नागिन दिखाई |

नंदु के नाना ने नंदु की नानी को नंद नगर मे नागिन दिखाई |

13.) राजा गोपी गोपाल गोपग्गम दास |

राजा गोपी गोपाल गोपग्गम दास |

14.) लपक बबूलिया लपक , अब ना लैपक्वे तो लैपक्वे कब ।

लपक बबूलिया लपक , अब ना लैपक्वे तो लैपक्वे कब ।

15.) नीली रेल लाल रेल नीली रेल लाल रेल ।

नीली रेल लाल रेल नीली रेल लाल रेल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *